MODI डिग्री विवाद पर Smriti Irani ने , केजरीवाल को सुनाई बहुत खरी-खोटी

एक निजी न्यूज चैनल के कार्यक्रम में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री Smriti Irani से बीजेपी नेता विजय जौली ने पूछा कि देश का प्रधानमंत्री देश का होता है, वो किसी दल के नहीं होते, ऐसे में दिल्ली के सीएम द्वारा प्रधानमंत्री की डिग्री को लेकर जो सवाल खड़े किए गए, इतने संवेदनशील मसले पर जिस तरह से विवाद किया गया, जिसके बाद दिल्ली विश्वविद्यालय ने भी मामले पर सफाई दी, देश की शिक्षा मंत्री होने के नाते उस पर आप क्या कहना चाहेंगी। इस पर स्मृति ईरानी ने कहा कि विजय जी मेरी अभी भी … इतनी औकात नहीं है कि मैं अरविन्द जी को कुछ एडवाइस करुं।

sm

Smriti Irani ने ये कहकर शुरुआत तो की, लेकिन फिर अपने अंदाज में आते हुए बताने लगी । उन्होने कहा कि अगर आप किसी भी विश्वविद्यालय में थर्ड पार्टी बनकर किसी भी छात्र के सारे कागजात मांगे तो विश्वविद्यालय नहीं देता है। ये विश्वविद्यालय की जिम्मेदारी है कि वो किसी की निजता को भंग ना करें, उसकी गोपनीयता बनाए रखे। विश्वविद्यालय को ये जिम्मेदारी उसे कानून से मिलता है। अब दिल्ली विश्वविद्यालय का ये सौभाग्य है कि उनका छात्र आज देश का पीएम है। ये पीएम नहीं बल्कि सभी के लिए नियम बराबर है आप जाकर किसी भी छात्र के सारे कागजात नहीं देख सकते, ये उस छात्र की निजता का हनन होगा।

source indiatrendingnow.com and india tv

 

Be the first to comment

Leave a comment

Your email address will not be published.